Adsense

Sunday, 10 May 2020

How to make (without oil) Chole - Bhature (छोले - भटूरे)


छोले जिसे लोग काबुली चना भी कहते हैं, इसे पसंद भी सभी करते हैं और अपने स्वाद के अनुसार बनाते भी हैं। लेकिन यदि कोई चीज हम खाए और खाने के बाद ये सोचना पड़े  कि क्या यार बेकार ही मे इतना तेल खा लिया, फिर खुद से वायदा करेंगे कि अब एक हफ्ता कुछ भी तेल वाली चीज नही खाएंगे।  फिर भठूरे में भी तो तेल लग जाता है

होता है न ऐसा?
कोई बात नही अब ऐसा नही सोचेंगे क्योंकि आज हम जो छोले बनाएंगे वह बिना तेल के बनाएंगे। यदि आप किसी को ये न बताए कि हमने बगेर तेल के बनाए है तो कोई बिश्वास नही करेगा।

छोले बनाने की विधि

सामग्री -

  • आधा किलो काबुली चना 
  • चार बडे़ टमाटर 
  • आधा टेबल स्पून लहसुन का पेस्ट
  • एक टेबल स्पून अदरक का पेस्ट, 
  • थोड़ा अलग से बारीक कटा हुआ अदरक 
  • एक टेबल स्पून हरी मिर्च का पेस्ट, 
  • अलग से बारीक कटी हुई हरी मिर्च
  • दो बड़ी प्याज बारीक कटी हुई
  • बारीक कटा हरा धनिया 
  • नीबू
  • रोज खाया जाने वाला सफेद नमक
  • एक चम्मच काला नमक
  • एक टी स्पून लाल मिर्च पाउडर
  • दो टी स्पून धनिया पाउडर
  • आधा टी स्पून हल्दी पाउडर
  • एक टेबल स्पून भुना व पिसा हुआ जीरा पाउडर
  • एक टी स्पून गरम मसाला 
  • तेज पत्ता
  • पांच लोंग
  • आठ दाने काली मिर्च
  • दो बडी़ इलायची
  • छोटा टुकड़ा दालचीनी का 
  • एक टेबल स्पून चना मसाला 

विधि -

चनो को बनाने से पांच घंटे पहले पानी मे भिगोकर रखे और यदि सुबह मे बनाने है तो रात मे ही भिगो दे 

सुबह मे अच्छे से धो कर कुकर मे डाले और दो कटोरी पानी एक चम्मच काला नमक डालकर उबाल ले। 

टमाटरों को भी पीस लें।

दूसरी ओर कढ़ाई मे सब सूखे मसाले डालकर भूने (घबराइए नहीं मसाले बिना घी के जलेंगे नहीं, हलकी आंच पर हल्का भूनना है), अब भुने मसालों मे लहसुन, हरी मिर्च, अदरक व टमाटर का पेस्ट डालकर पका ले। फिर  खड़े मसाले जिन्हें मोटा मोटा कूटा था वह और तेज पत्ता, दाल चीनी डालकर पकाएं और कढ़ाई का यह पका मसाला अब चने वाले कुकर मे डाल लें और मिक्स करे।

अब सादा नमक, चना मसाला डाले और आधा गिलास पानी डालकर मिला ले और कुकर बंद कर गैस पर तेज़ आंच करके रख दें। जैसे ही कुकर मे प्रेशर बनने लगे गैस सिम कर दे और पांच मिनट तक ऐसे ही पकने दे। पांच मिनट बाद गैस बंद कर दे और कुकर को ठंडा होने दे, ठंडा होने पर चने को चखकर अवश्य देख ले नमक व मिर्च ठीक है या नही। 

गरम मसाला पाउडर डाले और सर्व करे सर्व करते समय हरा धनियां, बारीक कटा अदरक, हरी मिर्च और प्याज डालें और नीबू का रस डालकर चनो के स्वाद का आनंद ले। 

टिप्स - 

यदि चने कम हो और सदस्य ज्यादा तो दो आलू उबाल कर बारीक मीस ले और चनो मे मिला दें। हरा धनियां और नीबू परसते समय ही डाले 

भटूरे बनाने की विधि

छोलो के साथ अगर भटूरे हो तो खानें का मजा आ जाता है शायद ही कोई हो जिसे छोले भटूरे न पसंद हो। 
मै भटूरे भी ऐसे बनाती हूँ कि ज्यादा तेल न लगे। 

सामग्री -


  • आधा किलो मैदा
  • आधा टी स्पून नमक
  • दो सौ ग्राम दही 
  • तेल 

विधि -

मैदे को छान ले और उसमे नमक मिला ले। 

अब मैदे मे दही डालकर डो तैयार करे यह डो पतला रहेगा। 

बनाने से चार घंटा पहले ही मैदे का आटा तैयार करके गरम कपड़े से ढक कर रख दे और यदि ओवेन है तो ओवेन को एक मिनट के लिए गरम करे और उसमे मैदे के बर्तन को ढककर रखे 

चाहे तो ढकी प्लेट को किसी शॉल से ढक दे, चार घंटे मे भटूरे की मैदा तैयार हो जाएगी और खमीर भी उठ जाएगा पर यह पतला होगा इसलिए ब इसमें थोड़ी सुखी मैदा डालकर डो को फाइनल तैयार कर ले और तेल से हाथ को चिकना करके लोई बनाए और भटूरे बेल लें।

कढ़ाई मे तेल डालकर अच्छा गरम करके एक एक भटूरा तलते जाए भटूरो के लिए तेल अच्छा गरम होगा तभी भटूरे फूलेंगे। 

एक प्लेट मे नैपकीन लगा ले और तलने के बाद भटूरे उस पर रख दे जिससे जो भी तेल भटूरो पर होगा वह नैपकीन पर आ जाएगा। 

छोलो का साथी भटूरे तैयार हैं 

टिप्स -

मैदा को हमने दही से मला है इससे तेल कम लगता है कही भी सोड़े का स्तेमाल नही किया  है, इससे भी तेल कम लगता है और तेल काला भी नही होता। दही के कारण भटूरे काफी सोफ्ट भी बनते हैं जब तक खूब गरम तेल न हो भटूरे न तले नही तो सारी महनत बेकार हो जाएगी। 



No comments:

Post a comment