Adsense

Tuesday, 26 September 2017

कूटू के आटे का पराठा

नव रात्रि शुरू होते ही घरो मे दुर्गा माँ की पूजा शुरू हो जाती है,कुछ लोग उपवास रखते है इस व्रत मे अन्न नही खाते फलाहार (फल,व्रत मे खाया जाने वाला कूटू के आटे का भोजन बनाकर खाते है) कूटू के आटे से पराठा या पूरी कैसे बनाते है ये आपको बता रही हूँ।अबकी व्रत मे आप भी बनाकर खाऐ,बहुत ही स्वादिष्ट लगता है।

सामग्री -
  • एक कटोरी कूटू का आटा 
  • 1/2 कटोरी कद्दू कस की लोकी
  • दो चुटकी सेंधा नमक 
  • थोड़ा पानी
  • शुद्ध घी


विधि -
  1. लोकी को कद्दू कस करे और कुकर मे डाले इसमे दो चम्मच पानी डाले और स्टीम आने तक उबाल ले ज्यादा पानी नही डालना है स्टीम बनने के बाद एक मिनट के लिए चूल्हे पर रहने दे,फिर गेस बंद कर दे। ठंडा होने पर लोकी को निचोड कर पानी अलग कर दे ये पानी फेकना नही है जरूरत होने पर आटे का डो बनाने मे इस्तेमाल करे।
  2. अब आटे मे ये लोकी चुटकी भर नमक डालकर मले जरूरत हो तो लोकी वाला पानी थोड़ा थोड़ा करके डाले और कूटू के आटे का डो तैयार करे और पाँच मिनट के लिए ढककर रख दे।







इस डो से आप पराठा या पूरी जो चाहे बना सकती है








 नोट व टिप्स - आप लोकी की जगह उबले आलू,उबली अरबी(घुईय्या) का भी इस्तेमाल कर सकती है,डो तैयार करने के लिए इसमे से किसी एक का होना जरूरी है। आप इस पराठे या पूरी को दही,रशे के आलू,अरबी की सब्जी किसी के भी साथ खा सकते है। कूटू के भोजन के साथ दही अवश्य खाऐ क्योंकि कूटू की तासीर गरम होती है।

No comments:

Post a comment